आज के दौर में बेहद ताकतवर माध्यम है सोशाल मीडिया। एक ऐसा वर्चुअल वर्ल्ड, एक ऐसा विशाल नेटवर्क, जो इंटरनेट के माध्यम से आपको सारे संसार से जोड़े रखने में समर्थ है। द्रुत गति से सूचनाओं के आदान-प्रदान और पारस्परिक संचार का एक बहुत सशक्त माध्यम है सोशल मीडिया। यह मीडिया जिसे वैकल्पिक मीडिया भी कहा जाता है पारस्परिक संबंध के लिए अंतर्जाल या अन्य माध्यमों द्वारा निर्मित आभासी समूहों को संदर्भित करता है। यह व्यक्तियों और समुदायों के साझा, सहभागी बनाने का माध्यम है। इसका उपयोग सामाजिक संबंध के अलावा उपयोगकर्ता सामग्री के संशोधन के लिए उच्च पारस्परिक मंच बनाने के लिए मोबाइल और वेब आधारित प्रौद्योगिकियों के प्रयोग के रूप में भी देखा जा सकता है। सोशल मीडिया की गहन पड़ताल करती मेरी एक नई पुस्तक आई है, जिसमें सोशल मीडिया का समग्र मूल्यांकन कराते हुये सकारात्मक और नकारात्मक दोनों पहलुओं को पाठकों के समक्ष रखा गया है। सोशल मीडिया को जानने-समझने  हेतु यह बेहद उपयोगी पुस्तक है, जिसमें मेरा मानना है कि दुनिया में दो तरह की सिविलाइजेशन का दौर शुरू हो चुका है, वर्चुअल और फिजीकल सिविलाइजेशन। आने वाले समय में जल्द ही दुनिया की आबादी से दो-तीन गुना अधिक आबादी इन्टरनेट पर होगी। यह पुस्तक दुनिया के समस्त ऑन लाइन बुक स्टोर पर उपलब्ध है। इसे आप सभी को जरूर पढ़ना चाहिए।
एमेजॉन पर -
https://www.amazon.com/Samajik-Media-Aur-Ham-Social/dp/1648055621/ref=sr_1_1?keywords=9781648055621&qid=1583841467&sr=8-1

फ्लिपकार्ट पर -
https://www.flipkart.com/samajik-media-aur-ham/p/itme5b7b9df3b2f3?pid=9781648055621&affid=editornoti

नोशन प्रेस पर -
https://notionpress.com/read/samajik-media-aur-ham

15 comments:

  1. रवीन्द्र जी आभार आपका मेरे इस प्रयास को इसी तरह ब्लॉगिंग को फिर से उसी तरह लोकप्रिय बनाने के लिए सहयोग देदे रहेंगे ।

    जवाब देंहटाएं
    उत्तर
    1. आदरणीया रेखा जी, मैं हमेशा आपके साथ रहा और आगे भी रहने की कोशिश करूंगा। बीच में कुछ समय के लिए ब्लॉगिंग से दूर अवश्य रहा। कारण था साहित्य में सर्वाधिक सक्रियता हो जाना। आपने फिर से आंदोलित किया है तो पुन:सक्रिय होने की इच्छा जागृत हुई। आपका साधुवाद।

      हटाएं
  2. सादर अभिवादन
    ऐसे ही जरूरी आलेख आप की ओर से आते रहे तो फिर क्या ब्लॉगिंग जिंदाबाद थी जिंदाबाद रहेगी अभी जिंदाबाद हो चुकी है। सभी को प्रेरित कीजिए

    जवाब देंहटाएं
    उत्तर
    1. गिरीश भाई, अविनाश जी के समय जाने से और साहित्य में सर्वाधिक सक्रिय हो जाने के कारण ब्लॉग से संपर्क टूट गया था, अब आप लोगों ने आंदोलित कर दिया है तो फिर सबकुछ पहले जैसा होगा यह मेरा वादा है।

      हटाएं
  3. हार्दिक बधाई रविन्द्र जी

    जवाब देंहटाएं
  4. जल्द पढ़ने का प्रयास करेंगे।

    जवाब देंहटाएं
  5. Nice Content
    In the era of 21st century Online tuition is becoming a very common word, every second person knows what online tuition is. If you are not aware of the difference between the two what is online tuition and old-way tuition or just tuition
    https://ziyyara.in/blog/what-are-best-online-tuition-websites-online-tuition-site-list.html

    जवाब देंहटाएं
  6. Online tuitions in Oman become all the more significant to get help in studies because private tuitions are not allowed there. As per the law of Oman, private tuition
    https://ziyyara.com/blog/why-online-tuition-gaining-popularity-oman-student.html

    जवाब देंहटाएं
  7. अभी के सन्दर्भ में एक ज़रूरी पुस्तक. पुस्तक के लिए बधाई.

    जवाब देंहटाएं

आपका स्नेह और प्रस्तुतियों पर आपकी समालोचनात्मक टिप्पणियाँ हमें बेहतर कार्य करने की प्रेरणा प्रदान करती हैं.

 
Top