।। ग़ज़ल।।
- रवीन्द्र प्रभात

गमजदा है माहौल बहुत आहट बनाए रक्खो।
बच्चों के लिए अपनी मुस्कुराहट बनाए रक्खो।

भूख से लड़कर हम जी लेंगे कुछ दिन जरूर - 
मगर ए दोस्त तिश्नगी की तरावट बनाए रक्खो।

स्याह अंधेरों में उम्मीदों की सुबह ढूढों मगर- 
इन अंधेरों के खिलाफ बगावत बनाए रक्खो।

यह मुल्क जितना है तेरा उतना ही मेरा भी है -
हर कौम की इस मुल्क में सजावट बनाए रक्खो।

कौन जाने किस घड़ी ज़िन्दगी की शाम हो जाए -
अपने रिश्तों में प्रभात यूं गर्माहट बनाए रक्खो।

12 comments:

  1. प्याज और लहसुन पर मंडी शुल्क समाप्त करने हेतु

    माननीय मुख्यमंत्री जी
    उ प्र सरकार
    लखनऊ
    महोदय
    निवेदन है कि आप द्वारा फल व सब्जियों के ऊपर मंडी शुल्क समाप्त करने के निर्णय से किसानों को राहत मिली है किन्तु सब्जियों में प्याज और लहसुन को मंडी शुल्क से राहत नहीं मिली है। प्याज और लहसुन के किसान भी जबरदस्त घाटे में चल रहे हैं।
    प्याज और लहसुन किसानों को मदद की आवश्यकता है।
    अतः आपसे विनम्र अनुरोध है कि व्यक्तिगत तौर पर किसानों के हित में प्याज और लहसुन का भी मंडी शुल्क समाप्त करने का निर्णय लेने का कष्ट करेंगें।
    सादर
    रणधीर सिंह सुमन
    प्रदेश उपाध्यक्ष
    आल इंडिया किसान सभा
    उ प्र
    मोबाइल :9450195427

    जवाब देंहटाएं
  2. प्याज और लहसुन पर मंडी शुल्क समाप्त करने हेतु

    माननीय मुख्यमंत्री जी
    उ प्र सरकार
    लखनऊ
    महोदय
    निवेदन है कि आप द्वारा फल व सब्जियों के ऊपर मंडी शुल्क समाप्त करने के निर्णय से किसानों को राहत मिली है किन्तु सब्जियों में प्याज और लहसुन को मंडी शुल्क से राहत नहीं मिली है। प्याज और लहसुन के किसान भी जबरदस्त घाटे में चल रहे हैं।
    प्याज और लहसुन किसानों को मदद की आवश्यकता है।
    अतः आपसे विनम्र अनुरोध है कि व्यक्तिगत तौर पर किसानों के हित में प्याज और लहसुन का भी मंडी शुल्क समाप्त करने का निर्णय लेने का कष्ट करेंगें।
    सादर
    रणधीर सिंह सुमन
    प्रदेश उपाध्यक्ष
    आल इंडिया किसान सभा
    उ प्र
    मोबाइल :9450195427

    जवाब देंहटाएं
  3. बहुत अच्छी ग़जल रवींद्र जी ।

    जवाब देंहटाएं
  4. नाईस जी की टिप्पणी पर ध्यान देते हुए कुछ अशआर प्याज लहसुन पर भी जरूर लिखे जाने चाहियें |

    हास से इतर , आपने बहुत ही कमाल लिखा है और वर्तमान हालातों का हू बहू चित्रण कर दिया है |

    जवाब देंहटाएं
  5. बहुत खूब
    और अंतिम पंक्ति तो शानदार

    जवाब देंहटाएं

आपका स्नेह और प्रस्तुतियों पर आपकी समालोचनात्मक टिप्पणियाँ हमें बेहतर कार्य करने की प्रेरणा प्रदान करती हैं.

 
Top